यू पी बोर्ड इंटरमीडिएट परीक्षा समय सारणी 2021 (UP Board Intermediate Exam Date Sheet 2021)

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा 12वीं के बोर्ड परीक्षाओं के लिए समय सारणी 2021 - यह समय सारणी आप हमारे वेबसाइट पर नीचे देख सकते हैं:

Board Date of Start Date of End Timings
UP Board 12th Exam (Intermediate) 24th April 2021 (Saturday) 10th May 2021 (Monday) 8:00 A.M. – 11:15 A.M. and

2:00 P.M. – 5:15 P.M.

यू पी बोर्ड इंटरमीडिएट एक्ज़ाम टाईम टेबल 2021 (UP Board Intermediate Exam Date Sheet/Exam Time Table 2021)

कक्षा 12वीं की परीक्षा समय सारणी – जिसे आप उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की आधिकारिक वेबसाइट से भी प्राप्त कर सकते हैं।

यू पी बोर्ड क्लास 12th एक्ज़ाम टाईम टेबल 2021 (UP Board Class 12th Exam Date/Schedule 2021)

UP Board Date Sheet 2021

इस बार हुए है यह मुख्य बदलाव (What are Special Changes in UP Board Exam in 2020)

  • उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जारी एक निर्देश के अनुसार इंटरमीडिएट २०२० की परीक्षा के नकलविहीन सञ्चालन हेतु सरकार ने सभी परीक्षा केंद्रों की वेबकास्टिंग करने का निर्णय लिया है जिसके तहत सरकार इन केन्द्रो को आधुनिक उपकरणों से युक्त कर इन पर परीक्षा के दौरान लगातार नजर रखेगी।
  • सरकार ने इंटरमीडिएट की भौतिक विज्ञान के पेपर के प्रतिरूप में भी कुछ बदलाव करने का निर्णय लिया है जिसके अंतर्गत पेपर में प्रथम ५ प्रश्न १-१ नंबर के बहुविकल्पीय प्रश्न होंगे, इसके बाद १-१ नंबर के ५ अति लघु-उत्तरीय प्रश्न फिर २-२ नंबर के ५ लघु उत्तरीय प्रश्न होंगे। इनके पश्चात् ३-३ नंबर के १० प्रश्न लघु उत्तरीय दिए जायेंगे जिनके बाद बारी होगी ५-५ नंबर के ४ दीर्घ उत्तरीय प्रश्नो की। शेष बचे अंको के प्रश्न कुछ कठिन होंगे जिनसे छात्रों की साल भर की तयारी परखी जाएगी।
  • माध्यमिक शिक्षा परिषद् उत्तर प्रदेश की बोर्ड परीक्षा 2020 शुरुवात 18 फरवरी से होने वाली जिसको लेकर छात्रों में काफी उत्साह देखा जा सकता है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार वर्ष २०२० में बोर्ड परीक्षा के लिए कुल ५६०१०३४ छात्रों ने आवेदन किया है जो कई देशों की कुल जनसँख्या से भी अधिक है।
  • बोर्ड परीक्षा २०२० हेतु निर्धारित केंद्रों को लेकर परिषद् ने हाल ही में एक सुचना जारी की है जिसके अनुसार यदि किसी केंद्र द्वारा परीक्षा अथवा केंद्र की किसी जानकारी को लेकर कोई गलत सूचना दी गयी तो उस केंद्र की वैधता १ वर्ष के लिए रोक दी जाएगी साथ ही उस पर अन्य क़ानूनी कार्यवाही भी की जाएगी।

हर बार से अलग था 2019 का परीक्षा पैटर्न

इस बार यूपी बोर्ड ने अपने परीक्षा के प्रश्न पत्र पैटर्न में कई बदलाव किये, जिनको ध्यान में रखकर ही परीक्षार्थियों को अपने परीक्षा की तैयारी करनी चाहिए। इस बार बोर्ड ने ना सिर्फ परीक्षा को कम से कम दिनों में समाप्त करने का प्रयास किया बल्कि कई विषयों में खंड रुप में पूछे जाने वाली प्रश्न प्रणाली को भी खत्म कर दिया। परीक्षा में प्रश्नों की संख्या को कम करते हुए प्रति प्रश्न दिये जाने वाले अंको को बढ़ा दिया गया।

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा पहली बार माध्यमिक शिक्षा परिषद के विद्यालयों में एनसीईआरटी के पाठ्यक्रम को लागू किया गया, जो कि काफी महत्वपूर्ण बदलाव था। इस बार परीक्षार्थियों को लंबे प्रश्न पत्र से राहत प्रदान कि गयी और उत्तरों के शब्द सीमा को भी कम कर दिया गया। अतिलघुउत्तरी प्रश्नों के जवाब 20 शब्दों में, लघु उत्तरी प्रश्नों के उत्तर 100 शब्दों में और दीर्घ उत्तरी प्रश्नों के उत्तर 300 शब्दों में।

अभी तक यूपी बोर्ड के गणित, रसायन और जीव विज्ञान के साथ अन्य कई प्रश्न पत्रों में अब तक दो प्रश्न पत्र प्रथम और द्वितीय प्रश्न पत्र होते थे। अब इन विषयों में सिर्फ एक ही प्रश्न पत्र होगा और इसी में पूरे विषय से प्रश्न पूछे जायेंगे। भले ही इस बार सिर्फ एक ही पेपर हो पर इसका छात्रों पर अतिरिक्त दबाव नहीं पड़ेगा क्योंकि प्रश्नों की संख्या को कम करते हुए प्रति प्रश्न दिये जाने वाले अंक को 3 से बढ़ाकर 5 कर दिया गया था।

परीक्षा के तैयारी में यू.पी. बोर्ड के छात्रों को यू.पी बोर्ड द्वारा बड़ी सहायता प्रदान की गई। अब तब यू.पी. बोर्ड के परीक्षाओं का ब्लू प्रिंट नीजी प्रकाशको द्वारा जारी किया जाता था पर इस बार यूपी बोर्ड ने इसमें बड़ा बदलाव करते हुए खुद ही परीक्षा का ब्लू प्रिंट जारी कर दिया। बोर्ड के इस सराहनीय फैसले से अब छात्रों को पढ़ाई में काफी सहायता मिलेगी क्योंकि उन्हें पूर्ण रुप से यह पता होगा कि विषयों के किन हिस्सों से अधिक प्रश्न पूछे जायेंगे, जिससे वह उन हिस्सों की अच्छी तैयारी करके अधिक अंक प्राप्त कर पायेंगे।

12वीं के प्रयोगात्मक परीक्षा में हुए थे निम्न बदलाव

इस बार यू.पी. बोर्ड ने प्रयोगात्मक परीक्षाओं का कार्यक्रम भी हर बार के अपेक्षा काफी पहले ही जारी कर दिया था। प्रयोगात्मक परीक्षाओं के कार्यक्रम को दो चरणों में बांटा गया था। दोनो चरणों में 15-15 दिन में परीक्षाएं पूरी हुई। पहले चरण की प्रयोगात्मक परीक्षा 15 दिसंबर से शुरु हुई।

इस बार इंटरमीडिएट प्रयोगात्मक परीक्षा के पूर्णांक मे से 50 फीसदी अंक विद्यालय द्वारा दिये गए इसके आलावा बाकी के 50 फीसदी अंक बाह्य परीक्षक द्वारा प्रदान किये गए। इसके साथ ही गणित और भौतिक विज्ञान जैसे दो कठिन विषयों की परीक्षा इस बार क्रमशः 21 व 22 फरवरी को थी, जिससे की छात्रों ने इसमें अंतराल करने की मांग की थी।

प्रथम चरण की प्रयोगात्मक परीक्षा 15 दिसंबर से शुरु होकर 29 दिसंबर तक थी, इस चरण में जिन मंडलो में परीक्षा थी वह – आगरा, सहारनपुर, बरेली, लखनऊ, चित्रकूट, फैजाबाद, मीरजापुर, देवीपाटन और बस्ती मंडल हैं।

द्वितीय चरण में की प्रयोगात्मक परीक्षा 30 दिसंबर से शुरु होकर 13 जनवरी तक चली, इस चरण में जिन मंडलों में परीक्षा थी वह – अलीगढ़, मेरठ, मुरादाबाद, कानपुर, प्रयागराज, वाराणसी, आजमगढ़ और गोरखपुर मंडल हैं।

विद्यार्थियों को अपने पढ़ाई पर अभी से ध्यान केंद्रित करना शुरु कर देना चाहिए (Students must Start Focusing on their Studies)

समय एक तीर की तरह है, अपने लक्ष्य को भेदने के लिए इसका सदुपयोग कीजिए (Time Flies like Arrow – Use it, don’t Lose It)

इस बार 12वीं के बोर्ड परीक्षा की समय सारणी पांच महीने पहले ही जारी कर दी गयी है, ताकि परीक्षार्थी आने वाली परीक्षाओं के लिए पहले से ही तैयारी शुरु कर दें। यह आपके लिए तैयारी करने के लिए एक सुनहरा अवसर हो सकता है और आप यदि चाहें तो अभी से इसके लिए तैयारी शुरु करते हुए परीक्षा के दौरान होने वाले पढ़ाई के बोझ को काफी कम कर सकते हैं।

हालांकि 12वीं के छात्रों के लिए यह पहली बार नहीं होगा, जब वह बोर्ड परीक्षाओं में सम्मिलित हो रहे होंगे। लेकिन फिर भी यह आपके लिए काफी महत्वपूर्ण समय हैं क्योंकि इसके बाद आपके कालेज जीवन की शुरुआत होगी। आज आपके द्वारा किया गया कठिन परिश्रम भविष्य में आपके काम आयेगा क्योंकि बोर्ड परीक्षाओं में पाये गये अच्छे अंक भविष्य में अच्छे कालेजों में दाखिले के लिए बहुत ही सहायक होंगे।

इन चार महीनों में आपके द्वारा किया गया कठिन परिश्रम आपके पूरे जीवन पर प्रभाव डालेगा क्योंकि आपके 12वी कक्षा का अंकपत्र भविष्य में आपके सामने आने चुनौतियों को पार करने में आपकी सहायता करेगा। तो इसलिए एकाग्रता पूर्वक अपने लक्ष्य के तरफ आगे बढ़िये क्योंकि भले ही आपको एक दूसरा मौका मिल जाये लेकिन आपके जीवन में यह सदैव के लिए असफलता का निशान छोड़ देगा। अपने दिमाग को हर तरह के व्याधों तथा विचलनों से दूर रखिये और सिर्फ अपनी पढ़ाई पर ध्यान दीजिए।

आपके पास अभी भी अपनी गलतियों और कमजोरियों को सुधारने के लिए काफी समय बचा हुआ है। इस विषय में यह कथन काफी सटीक बैठता है कि “समय एक तीर की तरह होता है” आप चाहें तो इसका इस्तेमाल अपने लक्ष्य को भेदने में कर सकते हैं या व्यर्थ में इसे गंवा सकते हैं। हमेशा इस बात को याद रखिये की सही समय पर की गयी मेहनत भविष्य में आपको कई प्रकार के दुख और पछताव से बचा सकता है, तो इसलिए अभी से इसके लिए कठिन परिश्रम में लग जाइये ताकि आपको सफलता प्राप्त करने से कोई भी ना रोक सके।

पढ़ाई पर ध्यान लगाइये (Focus on Studies)

आज के समय में पढ़ाई पर ध्यान लगाना और भी मुश्किल हो गया है क्योंकि आज के समय में मोबाइल फोन, मोबाइलएप, कमप्यूटर, इंटरनेट जैसे मनोरंजन के तमाम साधन मौजूद है, जो कि हमारा पढ़ाई पर से ध्यान भटकाने का कार्य करते हैं। इसलिए छात्रों और उनके अभिभावकों के लिए यह काफी जरूरी हैं कि वह इन चीजों के उपयोगों को लेकर विशेष सावधानी बरतें। 12वीं कक्षा की परीक्षा को देखते हुए आपका अपनी पढ़ाई पर ध्यान देना और भी आवश्यक हो गया है क्योंकि 10वीं कक्षा के अपेक्षा 12वीं की परीक्षाएं काफी कठिन होता है और इसमें सफलता प्राप्त करने के लिए आपको काफी ध्यान और लगन पूर्वक मेहनत करने की आवश्यकता है।

यह चार महीने आपके लिए एक सुनहरे अवसर के तरह हैं, जिनका आप अपने लक्ष्यों और प्राथमिकताओं को प्राप्त करने में उपयोग कर सकते हैं। आपका कठिन परिश्रम आपको अपने जीवन में सफलता प्राप्त करने में आपकी सहायता प्रदान करेगा। शुरुआत करने के लिए कभी भी देर नहीं होती है और यह वह समय है जब आपको बोर्ड परीक्षाओं में सफलता तथा अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए पूरे दृढ़ निश्चय के साथ एक नयी शुरुआत करने की आवश्यकता है। यहां हमने आपको, अपनी परीक्षाओं में सफलता प्राप्त करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण टिप्स प्रदान किये हैं, जिनका उपयोग करके आप अपनी पढ़ाई और भी आसानी तथा ध्यानपूर्वक कर पायेंगे।

पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित करने के लिए टिप्स/पढ़ाई में ध्यान कैसे लगायें (Tips to Focus on Studies)

आज के इस इंटरनेट और स्मार्टफोन के दौर में लोगों का पढ़ाई के प्रति ध्यान केंद्रित कर पाना काफी मुश्किल हो गया है। परीक्षा के तैयारी के दौरान विद्यार्थियों का अपने पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित करना बहुत ही आवश्यक है। पढ़ाई के दौरान ध्यान भटकने के कारण हमारे परीक्षा के अंको पर इसका काफी बुरा प्रभाव पड़ेगा, यह विद्यार्थियों की परीक्षाओं के तैयारी के दौरान होने वाली सबसे प्रमुख समस्याओं में से एक है, जिसपर ध्यान देने की आवश्यकता है। हमने परीक्षा के दौरान होने वाले इन समस्याओं के लिए कुछ उपाय बतायें है, जिन्हें अपनाकर आप पढ़ाई पर अपने ध्यान को बढ़ा सकते हैं।

1. लक्ष्यों का निर्धारण करना

अगर आपने लक्ष्य का निर्धारण कर लिया है, तो अब आपको बस उसे प्राप्त करने के लिए कार्य करने की आवश्यकता है। आपका यह लक्ष्य आपको अपना ध्यान केंद्रित करने और अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने में सहायता करेगा। तो इस प्रकार से हम कह सकते हैं कि यदि आपने अपने लक्ष्य का निर्धारण कर लिया तो आपको बस उसे पाने के लिए कार्य करने की आवश्यकता है।

2. प्राथमिकताएं निर्धारित करना

सबसे पहले आपको अपने कार्यों की प्राथमिकताएं निर्धारित करनी होंगी। यह आपको, आपके महत्वपूर्ण कार्यों में सफलता प्राप्त करने में सहायता प्रदान करेगा। अगर आपने सफलतापूर्वक अपने कार्यों की प्राथमिकताएं निर्धारित कर ली तो बस आपकोकर्मपूर्वकउनपर कार्य करना रह जायेगा।

3. समय सारणी बनाइये

एकाग्रता बनाये रखने के लिए एक नियमित दिनचर्या बहुत आवश्यक है। यह आपको, आपके लक्ष्यों को प्राप्त करने में आपकी सहायता प्रदान करता है। अगर आपके पास दिनचर्या की एक समय सारणी होगी तो आप अपने समय का उपयोग और भी अच्छे तरीके से कर पायेंगे। हालांकि इसके साथ ही अपने दैनिक समय सारणी में आराम के लिए कुछ समय अवश्य रखिये और खुद पर अत्यधिक दबाव ना बनाइये क्योंकि हमारे मस्तिष्क को सुचारु रुप से काम करने के लिए आराम की भी बहुत ही आवश्यकता होती है।

4. मोबाईल फोन और इंटरनेट को कुछ दिन के लिए अलविदा कहिये

मोबाइल फोन और इंटरनेट को अस्थायी रुप से कुछ दिन के लिए अलविदा कर दीजिए, क्योंकि इनका उपयोग आपको पढ़ाई में अपना ध्यान लगाने से रोकेगा। अपने परीक्षाओं के बाद आप जी भर के इनका उपयोग कर सकते हैं।

5. नोट्स बनाइये

जितनी जल्दी हो सके परीक्षाओं के लिए नोट्स बनाना शुरु कर दीजिए। अगर आपके पास नोट्स है तो आपको हर बार प्रश्नों के उत्तर को किताबों में नहीं ढूंढना पड़ेगा। इसके साथ ही नोट्स के द्वारा आप बड़े प्रश्नों का उत्तर संक्षिप्त और आसान रुप में तैयार कर सकते हैं और यह आपको उबाऊ तथा बड़े अध्यायों को आसानी और रुचि पूर्वक याद करने में आपकी सहायता करेगा।

6. योग और ध्यान कीजिए

ध्यान केंद्रित करने और दिमाग को आराम देने के लिए योग सबसे उत्तम उपाय है। ऐसी कई योग मुद्राएं है, जिनके द्वारा आप अपने ध्यान को बढ़ाकर अपने दिमाग को शांत रखकर अतिरिक्त तनाव से बचा सकते हैं। इसके लिए ध्यान लगाना सबसे अच्छा उपाय है, यह पढ़ाई के प्रति हमारे ध्यान को बढ़ाता है और दिमाग को शांत रखने तथा चीजों को अच्छे तरीके से समझने में हमारी सहायता करता है।

इन दिये हुए कुछ उपायों द्वारा आप अपने पढ़ाई में होने वाले विघ्नों को अवश्य ही दूर कर पायेंगे। इसके साथ ही अपने विचारों में सदैव सकरात्मकता बनाये रखिये और हर कार्य को सकारात्मक तरीके से करने का प्रयास कीजिए। यदि आप अपने ध्यान को केंद्रित रखते हुए कठिन परिश्रम करेंगे तो आपको सफलता प्राप्त करने से कोई भी बाधा नहीं रोक पायेगी। हम आपको, आपकी तैयारियों के लिए शुभकामनाएं देते हुए, यह उम्मीद करते हैं कि आप, अपनी परीक्षाओं में काफी अच्छा प्रदर्शन करते हुए काफी अच्छे अंको से अपनी परीक्षाएं उत्तीर्ण करेंगे।